Feelings, Hindi, Hindi-Urdu Poetry, Jazbaat, Journey, Safar

Emotions-Jazbaat

Yunn jazba imaandaari ka rakhna,
Kabhi apno se maafi ki guzarish ,
Toh kabhi apno ko maaf karne ki taiyaari rakhna –एच.पी. Kahin

यूं जज़्बा ईमानदारी का रखना,
कभी अपनों से माफ़ी की गुज़ारिश,
तो कभी अपनों को माफ़ करने की तैयारी रखना –एच.पी. Kahin

Nikale hain armaan bhi yuun safar pe,
Ki ibadat karte Hain muhabbat se,
Aur muhabbat hee ibadat hai –एच.पी. Kahin

निकले हैं अरमान भी यूं सफ़र पे,
कि इबादत करते हैं मुहब्बत से,
और मुहब्बत ही इबादत है –एच.पी. Kahin